Internet क्या है और यह कैसे काम करता है ?

Internet क्या है और यह कैसे काम करता है ?

इंटरनेट दुनिया का सबसे बड़ा नेटवर्क का जाल है. यहां सभी Network एक दूसरे के साथ जुड़े रहते हैं. एक ग्लोबल Computer नेटवर्क होते हैं जो बहुत से प्रकार की जानकारियो को संचार में प्रदान करते हैं.

नेटवर्क के जाल को Internet की भाषा में ट्रांसमिशन मीडिया (Transmission Media) के नाम से जाना जाता है.

यह एक तरक का तरंग तार है जिसमे दुनिया भर की डेटा और जानकारी इस में घूमते रहते हैं. इसमें DATA के रूप में वीडियो, फोटो, pdf, text आदि हो सकता है.

Internet की परिभाषा in Hindi ?

इंटरनेट वास्तव में एक वैश्विक व्यापक क्षेत्र Network होता है जो दुनिया के सभी computer को इससे जोड़ता है. उच्च बैंड विथ्ड डेटा लाइनों को इंटरनेट का बैकबोन कहा जाता है.

इस तरह की सभी लाइने internet hub से जुड़ी होती हैं जो IP (Internet Protccol) व Web srver जैसे स्थानों पर डाटा को भेजते हैं.

यदि आप Internet से जुड़ना चाहते हैं तो आपके पास एक ISP (इंटरनेट सेवा प्रदाता) की पहुंच होनी चाहिए. यह internet और आपके बीच एक बिचौलिए (Middleman) का कार्य करता है.

बहुत से IP एक केबल या फाइबर कनेक्शन के माध्यम से bordband इंटरनेट एक्सेस प्रदान करते हैं. यदि आप एक सार्वजनिक Wifi के द्वारा Internet से जुड़ते हैं तो wifi Router आपको internet से जोड़ने के लिए ISP (Internl Servic Provider) से जुड़ता है.

Internet का full Form क्या है in Hindi ?

इंटरनेट का फुल फॉर्म इंटरकनेक्टेड नेटवर्क (Interconnected Network) होता है. यह दुनिया के सभी web srver का एक बहुत बड़ा नेटवर्क है. इसलिए इसको वर्ल्ड वाइड वेब (www) के नाम से भी जाना जाता है.

इस तरह के Network में सार्वजनिक संगठन, School, collage, अस्पताल, अनुसंधान केंद्र व दुनिया भर के बहुत से srver इसमें शामिल है.

Internet इंटरकनेक्टेड Network का संग्रह होता है. यह दुनिया के जुड़े राउटर और Interconnected से बना होता है.

Internet की खोज किसने की थी ?

इंटरनेट का आविष्कार किसी एक व्यक्ति के लिए नहीं किया गया है और नही यह कार्य एक व्यक्ति द्वारा किया गया है. इसके अविष्कार के लिए बहुत से Engineers और Scientests की आवश्यकता थी.

अमेरिका ने 1957 में Advanced Research Projects Agency (ARPA) की स्थापना की गई. इसका मुख्य उद्देश्य ऐसी Technology को बनाना था जिसके माध्यम से एक Computer को दूसरे कंप्यूटर से जोड़ सके.

1969 में ARPANET एजेंसी की स्थापना की गई. इसमें किसी भी दूसरे Computer को दूसरे Computer के साथ जोड़ा जा सके.

1980 तक इसका नाम Internet हो गया था. Vinton Cerf और Robert Khan ने IP प्रोटोकॉल का आविष्कार किया. Ray Tomlinson ने अपना पहला नेटवर्क 1972 में पेश किया.

Internet की शुरुआत कब हुई ?

दुनिया में सबसे पहले 1 जनवरी 1983 से ही इंटरनेट की शुरुआत हुई थी. 1 जनवरी 1983 को ARPANET ने IP को अपनाया और फिर शोधकर्ताओं ने उनको इकट्ठा करना शुरू कर दिया. उस समय में इसको “Network Of Network” कहा जाता था. लेकिन इसको आधुनिक समय में Internet के नाम से जाना जाता है.

भारत में Internet की शुरुआत कब हुई ?

India में इंटरनेट सेवा को सार्वजनिक रूप से उपलब्ध कराया गया. इससे नेट सेवा को स्वामित्व वाली विद्या निगम लिमिटेड (Videsh Sanchar Nigam Limited) द्वारा लॉन्च किया गया था.

Internet की क्या-क्या सुविधाएं हैं ?

हमने इंटरनेट के अविष्कार, परिभाषा और full form को तो जान लिया. अब आईए इसकी सुविधाओं को भी जान लेते हैं.

(1) ईमेल (E-mail):

1.इलेक्ट्रॉनिक ईमेल Internet का एक लोकप्रिय कारण है .जिसके कारण लोग इसका उपयोग करते हैं.

2.ईमेल संदेश भेजने, प्राप्त करने और E-mail Message बनाने के लिए आपको एक E-mail Program तथा Domain Name के साथ ही Internet Mail सर्वर के खाते की आवश्यकता होती है.

3.यदि एक उपयोगकर्ता Email का उपयोग करना चाहते हैं तो उसको एक ईमेल Account का पता होना बहुत जरूरी है जिसके अंदर आप उपयोगकर्ता का नाम भी जोड़ सकते हैं.

(2) टेलनेट (Telnet):

1.टेलनेट एक विशेष सेवा होती है जो आपको Host की मदद से दूसरे Compauter की सामग्री तक पहुंचने के लिए दूसरे कंप्यूटर के उपयोग करने की अनुमति देता है.

2.टेलनेट प्रोग्राम एक Window होस्ट से बना होता है जिसमें आप फाइल और डाटा का आदान प्रदान कर सकते हैं.

3.Tenlet का उपयोग पुस्तकालयों में व्यापक रूप से किया जाता है. इससे की आने वाली आगंतुकों को जानकारी लेने, लेख खोजने की अनुमति प्रदान करता है.

(3) इंटरनेट रिले चैट (Internet Relay Chat):

1.इंटरनेट रिले चैट एक ऐसी सेवा प्रणाली है जो उपयोगकर्ताओं को एक दूसरे के साथ स्वांद करने के लिए सही समय में एक विशेष प्रकार के window में Text Type करने की अनुमति प्रदान करता है.

2.समाचारों की तरह बहुत से IRC Channels हैं और एक प्रत्येक विषय समूह को समर्पित है.

3.आप चाहे तो इन चैट रूम चर्चाओं में भाग लेने के लिए IRC प्रोग्राम का उपयोग कर सकते हैं. लेकिन बहुत से चैट रूम Website में ही स्थापित किए जाते हैं.

(4) वर्ल्ड वाइड वेब (world wide web):

World Wide Web (WWW) एक Internet का हिस्सा होता है जो कि Hypertext दस्तावेजों का समर्थन करता है. उपयोगकर्ताओं को विभिन्न प्रकार के नेविगेट करने और डाटा को देखने की अनुमति प्रदान करता है.

2.एक webpage एक ऐसा दस्तावेज है जो hypertext मार्कअप लैंग्वेज टैग से encoded होता है.

3.HTML डिजाइनों के hypertext के माध्यम से सभी को एक साथ लिंक करने की अनुमति प्रदान करता है.

4.प्रत्येक web page के लिए एक पता (address) होता है जिसे Uniform Resource Locator (URL) कहा जाता है.

आप ने क्या सीखा?

इस पोस्ट में हमारे द्वारा बताया गया है कि इंटरनेट क्या है-what is internet in Hindi? आपने net के बारे में विस्तार से जान लिया होगा.

हमें आशा है कि इस पोस्ट को पढ़ने से आपको इंटरनेट के बारे में पूरी जानकारी समझ में आ गई होगी. अब आपको internet के उपयोग में कोई भी परेशानी नहीं होने वाली है और आप net सरलता से उपयोग कर सकेंगे.

आपसे एक उम्मीद है कि आप इस पोस्ट को अपने दोस्त, facebook, group और अन्य सभी मित्र और सोशल मीडिया पर शेयर कर उन तक पहुंचाएं, जिसके की वे भी internet इस के बारे में जानकारी प्राप्त कर सके.

यदि अगर आप कुछ भी बात और पहुंचना चाहते हैं तो हमें कमेंट के माध्यम से पूछ सकते हैं.

Please follow and like us:
error20
fb-share-icon
Tweet 76
fb-share-icon20

Leave a Comment