Car Insurance क्या है और इसका उपयोग कैसे करते हैं ?

Car Insurance क्या है और इसका उपयोग कैसे करते हैं ?

आज के समय में बदलते वक्त के साथ सब कुछ बदल रहा है. जब हम कोई नया वाहन खरीदते हैं तो यह Car Insurance हम को Car Company की तरफ से उपलब्ध करवाया जाता है. Car Insurance kya hai in Hindi ?

यह किसी भी कार या वाहन के लिए एक साल तक ही मान्य होता है. जब इस Car Insurance की वैधता समाप्त हो जाती है. तो वाहन के मालिकों एक साल के बाद फिर से इंश्योरेंस को रिव्यू कराना होता है.

आप टू व्हीलर खरीदे या फिर फॉर व्हीलर, व्हीकल आपको पूरे भारत से खरीदने वाले मोटर वाहन का Insurance खरीदना अनिवार्य करवा दिया गया है.

जब भी आपके साथ वाहन का कोई हादसा या दुर्घटना होने की स्थिति में जो नुकसान की भरपाई का भार इंक्योरेंस कंपनी का ही होता है.

यदि आप यह जानना चाहते हैं कि Car Insurance क्या है (what is Car Insurance in Hindi) और इसका उपयोग क्यों करते हैं. तो इस पोस्ट को पूरा पढ़ें.

Car Insurance क्या है in Hindi ?

कार या वाहन बीमा मोटर या गैप बीमा के रूप में जाना जाता है. यह बीमा ट्रक, कार, मोटरसाइकिल और अन्य सडक वाहनों की खरीद का Insurance है.

इसका प्राथमिक उपयोग यातायात वाहनों के टकराने से वाहन में नुकसान हो सकता है. परिणाम स्वरूप शारीरिक या वाहन चोट के खिलाफ Insurance वित्तीय सुरक्षा प्रदान करता है.

वाहन Insurance अपनी विशेष नियम और प्रत्येक क्षेत्र में कानूनी नियमों के साथ बदलता रहता है. जब किसी स्थिति में वाहन चोरी हो जाता है तो उसकी सुरक्षा का हकदार Insurance Company ही होता है.

जब कोई परिस्थिति में वाहन की दुर्घटना होने पर जो नुकसान होता उसकी भरपाई वाहन बीमा कंपनी करती है.

कार बीमा का इतिहास – History of Car Insurance ?

भारत में कार वाहन बीमा मानव निर्मित और प्राकृतिक आपदाओं और समस्याओं के कारण वाहन चालक के नुकसान या क्षति की भरपाई के साथ संबंधित रहा है.

यह Automobile के व्यापक उपयोग के शहरों में प्रथम विश्वयुद्ध के बाद शुरू किया गया था. सबसे पहले अनिवार्य Car Insurance सड़क यातायात अधिनियम 1900 के समय ब्रिटेन में पेश किया गया था.

जर्मनी में भी 1939 में इसी तरह कानून अधिनियम पास किया गया था.

संयुक्त राज्य अमेरिका –

अमेरिका में वाहन बीमा के लिए अपने नियमों को प्रत्येक अमेरिकी राज्य अपनी न्यूनतम कवरेज जरूरतों के अनुसार प्रत्येक राज्य और प्रदेश में अलग-अलग है.

अमेरिका के कोलंबिया और 50 राज्यों में जिला में प्रत्येक सभी शारीरिक और संपत्ति नुकसान के लिए Insurance कवरेज राशियों में अलग-अलग होता है.

कम संपत्ति नुकसान के दायित्व की आवश्यकताओं में $ 25,000 (16 राज्यों में) और $ 5000 (4 राज्यों) के लिए उत्तरदायित्व है.

भारत –

भारत में Car Insurance मानव और प्राकृतिक निर्मित समस्याओं के कारण वाहन मालिक, यात्रीगण और अन्य नुकसान की भरपाई से संबंधित है.

यह वाहन के मालिकों के लिए अलग-अलग दुर्घटना लेयर प्रदान करता है. सभी सामान्य Car Insurance सभी प्रकार के वाहनों के लिए बीमा सेवाएं प्रदान करती हैं.

बीमा कंपनियां प्रमुख ऑटोमोबाइल निर्माताओं के साथ टाइप करती हैं. India में वाहन बीमा दोवो को आकस्मिक चोरि यां तीसरे पक्ष का दावा हो सकता है.

भारत में वाहन बीमा के लिए FIR की नकल, RC प्रति हस्ताक्षर, लाइसेंस विविधता दावा प्रपत्र और मूल अनुमान ऑटो बीमा के लिए आवश्यक है.

Types of Car Insurance in india:

1. निजी कार बीमा –

यह सभी नई कारों के लिए आवश्यक होता है. भारत में निजी वाहन Insurance, बीमा के रूप में तेजी से बढ़ता क्षेत्र है.

कार का पंजीकृत और राशि, राज्य के मूल्य और निर्माण वर्ष पर निर्भर करती है.

2.दो व्हीलर बीमा –

India में Car Insurance के अनुसार tow whiler बीमा वाहन चालकों के लिए दुर्घटना बीमा कवर करता है.

बीमा पॉलिसी की राशि अवधि की शुरुआती समय traffic सलाहकार समिति द्वारा लागू की गई दर से शोरूम की कीमत पर निर्भर करती है.

Car Insurance के प्रकार in Hindi ?

Types of Car Insurance –

भारतीय बीमा नियामक व विकास प्राधिकरण (IRDAT) 1अगस्त से लागू किए नए नियमों के बाद अपने वाहन के लिए Packeg Form में थर्ड पार्टी इंश्योरेंस + One-Demage Insurance लेने की वैलिडिटी समाप्त हो गई.

लेकिन अब नया वाहन खरीदने पर Owner चाहे तो थर्ड पार्टी इंश्योरेंस और वन-डैमेज को अलग-अलग प्राप्त कर सकता है.

वर्तमान समय में भारत में अपना वाहन खरीदने वाले हर व्यक्ति के लिए Motor Insurance खरीदना अनिवार्य कर दिया गया है. यह टू व्हीलर कार और कमर्शियल तीनों प्रकार ही गाड़ियों के लिए लागू होता है.

भारत में बीमा के सार्वजनिक स्थानों पर व्हीकल चलाना, मोटर व्हीकल एक्ट 1988 के अनुसार दंडनीय अपराध है.

1.व्यक्तिगत दुर्घटना बीमा

कार चलाते समय जब कोई दुर्घटना में गाड़ी चलाने वाले कोई शारीरिक शक्ति के लिए व्यक्तिगत दुर्घटना बीमा काम आता है.

यह भी थर्ड पार्टी इंश्योरेंस की तरह ही अनिवार्य होता है. इस Insurance में चालक के साथ बैठे पर पैसेंजर को भी शामिल किया जाता है.

जब किसी प्रकार से कार मालिक की हादसे में मौत हो जाती है. तो उसके परिवार वाले को मुआवजा दिया जाता है.

India में Motor Car के साथ ड्राइवर तथा वाहन मालिक और अन्य पैसेंजर के लिए 15 लाख का न्यूनतम दुर्घटना बीमा लेना अनिवार्य होता है.

1 जनवरी 2019 से IRDAI ने पर्सनल एक्सीडेंट कवर को Motor Insurance Policy से अलग कर दिया गया.

जब कोई व्यक्ति वाहन खरीदता है तो वह पर्सनल एक्सीडेंट इंश्योरेंस पॉलिसी कवर दोनों ले सकता है.

2.ओन डैमेज

यह व्हीकल को होने वाले नुकसान की भरपाई के लिए जो Policy को खरीदा जाता है उसे ओन डैमेज (Owe Damege) पॉलिसी कहा जाता है.

जब कोई दुर्घटना में कार को नुकसान होता है तो Car Insurance Company के हुए नुकसान की मरम्मत के लिए मुआवजा उपलब्ध कराती है.

IRDAI के अनुसार Own Damage Section के तहत इस तरह का नुकसान का कवर होता है. विस्फोटक, आग लगाना, बिजली गिरना, चक्रवात, रेल, सड़क, चट्टान खिसकने, हड़ताल, आतंकवाद आदि

3.थर्ड पार्टी इंश्योरेंस

कार लेने के साथ-साथ थर्ड पार्टी इंश्योरेंस करवाना कानूनी रूप से अनिवार्य है. इसके अनुसार आपके वाहन से सड़क पर चलने वाले व्यक्ति या अन्य वस्तु को हुए नुकसान का मुआवजा दिया जाता है.

इस तरह की घटना के कारण आपके कानूनी कार्रवाई उनका निपटारा इन Policy से होता है. इस Insurance में व्हीकल के मालिक को होने वाले नुकसान की भरपाई की कोई जिम्मेदारी नहीं होती है.

टू व्हीलर लेने पर 5 साल का, कार लेने पर 3 साल का थर्ड पार्टी इंश्योरेंस करवा लेना अनिवार्य है.

4.पैकेज पॉलिसी इंश्योरेंस

थर्ड पार्टी Insurance के साथ जब Own डैमेज policy पैकेज में शामिल करके ली जाती है उसे “कॉम्प्रीहेनसिव पॉलिसी” कहा जाता है.

इस प्रकार की policy से वाहन और वाहन से अन्य व्यक्ति को हुए नुकसान की भरपाई एक ही policy से हो जाती है.

IRDAl ने इस लॉन्ग टर्न पैकेज पॉलिसी को लेने की अनिवार्यता को खत्म कर दिया था. वाहन मालिक के लिए ओन डैमेज इंश्योरेंस थर्ड पार्टी Insurance लेना अच्छा विकल्प होगा.

आप ने क्या सीखा ?

इस पोस्ट में हमारे द्वारा बताया गया है कि कार बीमा क्या है-what is Car Insurance in Hindi? आपने इसके के बारे में विस्तार से जान लिया होगा.

हमें आशा है कि इस पोस्ट को पढ़ने से आपको कार बीमा के बारे में पूरी जानकारी समझ में आ गई होगी. अब आपको इसके उपयोग में कोई भी परेशानी नहीं होने वाली है और आप Car Insurance का सरलता से उपयोग कर सकेंगे.

आपसे एक उम्मीद है कि आप इस पोस्ट को अपने दोस्त, facebook, group और अन्य सभी मित्र और सोशल मीडिया पर शेयर कर उन तक पहुंचाएं, जिसके की वे भी Car Insurance kya hai इस के बारे में जानकारी प्राप्त कर सके.

यदि अगर आप कुछ भी बात और पहुंचना चाहते हैं तो हमें कमेंट के माध्यम से पूछ सकते हैं.

Please follow and like us:
error20
fb-share-icon
Tweet 76
fb-share-icon20

Leave a Comment