Black Fungus क्या है और इससे कैसे बच सकते हैं ?

Black Fungus क्या है और इससे कैसे बच सकते हैं ?

दुनिया में बढ़ती कोरोना महामारी के बीच एक घातक वायरस ने ओर जन्म ले लिया. कोरोना के साथ-साथ आज ब्लैक फंगस के मामले भी तेजी से बढ़ते जा रहे हैं.

हमें इस जगह डरने से ज्यादा जागरूक होने की ज्यादा आवश्यकता है.

दुनिया में बहुत से डॉक्टरों का कहना है कि Black Fungus कोई नई बीमारी नहीं आई है. बहुत से लोग जब पानी से नाक की सफाई करते हैं.

परंतु बहुत से लोग पानी की सफाई पर बहुत कम ध्यान देते हैं. प्राचीन समय में जब लोग गंदे पानी से नाक को साफ करते थे. उस समय इस तरह के मामले सामने आते थे.

ब्लैक फंगस क्या है in Hindi ?

काला फफूंद (Black Fungus) या म्यूकरर्माइकोसिस एक घातक फंगस और दुर्लभ प्रकार का संक्रमण है जिसे मयूकोर्मीकोशिश या ब्लैक फंगस के नाम से जाना जाता है

Black Fungus एक दुर्लभ प्रकार का संक्रमण है जिसको Mucomycosis के नाम से भी जाना जाता है.

यह वायरस उन लोगों के लिए ज्यादा खतरनाक है जिन लोगों को कोरोना वायरस है या हो चुका है.

यदि इस पर ज्यादा ध्यान नहीं दिया जाए तो यह उस व्यक्ति की जान भी ले सकता है. इससे 50 से 80% मरीजों की मौत होने की संभावना रहती है.

यह एक प्रकार का फंगल इंफेक्शन होता है जो खासतौर से उन लोगों को संक्रमित करता है जो लोग किसी बीमारी से ग्रस्त हैं या उनका इम्यून सिस्टम कमजोर है.

इसी कारण से उस व्यक्ति की रोगाणुओं से लड़ने की शक्ति कमजोर हो जाती है. ऐसे में लोगों में यह हवा के कारण फेफड़ों या साइनस में यह संक्रमण फैलने का खतरा बढ़ जाता है.

इस तरह की बीमारियों से लड़ने के लिए हमें सुरक्षा को ध्यान रखना जरूरी हो जाता है.

ब्लैक फंगस का इतिहास – History of Black fungis

इस वायरस की अजीब बात यह है कि यह एक नया संक्रमण रोग है. जबकि इस फंगस का पहला केस जर्मनी के पॉलटॉक नाम के एक पैथोलॉजिस्ट ने 1885 में देखा था.

अमेरिकी पैथोलॉजिस्ट और आरडी बेकर ने बाद में इसका नाम म्यूकरर्माइकोसिस दिया.

1943 में इससे संबंध में एक शोध छापा गया था. इस बीमारी से बचने वाला पहला शख्स हैरिस नाम के व्यक्ति की है जो कि 1955 की घटना है.

ब्लैक फंगस के लक्षण क्या होते है ?

यदि हमारे शरीर में Black fungus के लक्षण इस बात पर निर्भर रहते हैं कि यह हमारे शरीर के किस अंग में बढ़ रहा है.

1.फेफड़े संबंधी ब्लैक फंगस के लक्षण-

1.बुखार का होना
2.बार बार खासी का चलना
3.छाती में दर्द का होना
4.सांस लेने में रुकावट पैदा होना

2.मस्तिक और साइनस संबंधी ब्लैक fungus के लक्षण-

1.चेहरे के एक साइड में सूजन आना
2.साइनस या नाक में जाम या रुकावट का होना
3.मुंह या नाक के ऊपरी हिस्से में काले घावों का जल्दी से बढ़ना

Black fungus शरीर को कैसे प्रभावित करता है ?

सबसे पहले ब्लैक फंगस नाक और आंख के रास्ते से सिर तक पहुंचता है. फिर बाद में रास्ते में आने वाली हड्डियों और त्वचा को नष्ट भी कर देता है जिसकी वजह से मृत्यु ज्यादा होती है.

इस मामले में डॉक्टरों का मानना है कि जो लोग अधिक दिनों तक वेंटिलेटर या ऑक्सीजन का उपयोग कर रहे हैं और जिनका शुगर कंट्रोल में नहीं है उन लोगों को ब्लैक फंगस कभी भी समय अपना शिकार बना सकता है.

Black fungus से कैसे बचा जा सकता हैं ?

यदि हम किसी डॉक्टर की राय के अनुसार कुछ बातों का ध्यान रखें तो हम Black Fungus से बच सकते हैं.

1.कोरोना से ठीक हुए व्यक्ति और डायबिटीज के मरीजों के ब्लड ग्लूकोज पर रोज नजर रखनी चाहिए.

2.यदि व्यक्ति स्टेरॉयड का इस्तेमाल करता है तो समय और उपयोग में डोज का पूरा ध्यान रखना चाहिए.

3.जब आप ऑक्सीजन थेरेपी का उपयोग करते हैं तो आपको स्टेराइल वाटर का ज्यादा उपयोग करना चाहिए.

4.आप यदि इम्यूनोमॉड्यूलेटिंग दवाइयों का उपयोग कर रहे हैं तो उसको तुरंत बंद कर देना चाहिए.

5.आपके खून में शुगर की मात्रा अधिक है या बढ़ रही है तो उसे नियंत्रित करने की कोशिश करें.

6.एंटीफंगल और एंटीबायोटिकस दवाइयों का उपयोग सावधानी के साथ करें.

ब्लैक फंगस का खतरा ज्यादा किन लोगों को है ?

ब्लैक fungus (Mucormycosis) मुख्य रूप से उन लोगों को ज्यादा प्रभावित या नुकसान पहुंचाता है जो कि पहले से या तो बीमारी से ग्रस्त है या उनकी रोग प्रतिरोधक क्षमता कमजोर हो चुकी है.

इस तरह की पोजीशन में मरीजों का शरीर बीमारी और कीटाणुओं से लड़ने की क्षमता खो देता है. इसी तरह ब्लैक फंगस इन मरीजों पर अपना असर दिखाना शुरू कर देता है.

Black fungus से ठीक कैसे हो सकते है ?

ब्लैक फंगस एक बहुत ही घातक बीमारी है. यदि कोई मरीज दवाइयों से ठीक हो जाए तो बहुत अच्छा है.

लेकिन नहीं होने की स्थिति में मरीज के शरीर के उन भागों को काट दिया जाता है जो कि ब्लैक फंगस द्वारा नुकसान पहुंचाया गया है या ब्लैक फंगस से ग्रसित है.

Black Fungus जिस भाग को भी नुकसान पहुंचाता है वो गैंगरिन की तरह दिखने लगता है जिसके पीछे की ओर फंगस छिपा रहता है. इसी तरह शरीर के अन्य भागों तक उनको भी इसी तरह नुकसान पहुंचाता है.

Black Fungus एक ऐसी बीमारी है जिस को ठीक करना बहुत कठिन है और इसका इलाज भी काफी महंगा होता है. इसके इलाज के लिए बहुत दिन Hospital में गुजारने पड़ते हैं.

आप ने क्या सीखा ?

इस पोस्ट में हमारे द्वारा बताया गया है कि ब्लैक फंगस क्या है-what is black fungus in Hindi? आपने फंगस के बारे में विस्तार से जान लिया होगा.

हमें आशा है कि इस पोस्ट को पढ़ने से आपको black fungus के बारे में पूरी जानकारी समझ में आ गई होगी. अब आपको ब्लैक फंगस के उपयोग में कोई भी परेशानी नहीं होने वाली है और आप फंगस सरलता से उपयोग कर सकेंगे.

आपसे एक उम्मीद है कि आप इस पोस्ट को अपने दोस्त, facebook, group और अन्य सभी मित्र और सोशल मीडिया पर शेयर कर उन तक पहुंचाएं, जिसके की वे भी Black fungus kya hai इस के बारे में जानकारी प्राप्त कर सके.

यदि अगर आप कुछ भी बात और पहुंचना चाहते हैं तो हमें कमेंट के माध्यम से पूछ सकते हैं.

Please follow and like us:
error20
fb-share-icon
Tweet 76
fb-share-icon20

3 thoughts on “Black Fungus क्या है और इससे कैसे बच सकते हैं ?”

Leave a Comment